उत्कृष्ट कला नक्काशी मूर्तिकला एवं वास्तुशिल्प भगवान राजीव लोचन मंदिर में

छत्तीसगढ़ के प्रयागराज राजिम में स्थित भगवान राजीवलोचन का मंदिर दिव्य धारा धाम है। यह भगवान विष्णु का मंदिर है दीवारों पर उकेरी गई उत्कृष्ट कला नक्काशी मूर्तिकला एवं वास्तुशिल्प…
Read More

परब बिसेस-छुरिया के पहाड़ी म बिराजे दंतेश्वरी माई

छुरिया के पहाड़ी– राजनांदगांव ले रकसाहू कोति 50 किलोमीटर दूरिहा म बसे वनांचल कस्बा छुरिया के पहाड़ी के ऊपर म बिराजे हे दंतेश्वरी माई। जेकर कई ठन जनसुरूति,रहस्य,अउ आशचर्य ले…
Read More

नवरात् परब खास- देबीगढ़ आए छत्तीसगढ़

आलेख  देबी पूजास्थल के गढ़ छत्तीसगढ़ हर रहे हावय। एक जमाना म इहां के जमीदार, राजा महाराजा मन ह अपन अपन कुलदेबी  के स्थापना करीन हांवय।इहां के खेत- खलिहान,डोंगरी- पहाड़,गांव…
Read More

खूबसूरत है बस्तर के चित्रकूट जलप्रपात

चित्रकूट जलप्रपात, मिनी नियाग्रा के नाम से प्रसिद्ध चित्रकूट जलप्रपात बस्तर के जिला मुख्यालय जगदलपुर से 39 कि.मी. की दूरी पर लोहण्डीगुड़ाविकासखंड के अंतर्गत स्थित है, इंद्रावती नदी उड़ीसा के…
Read More

छत्तीसगढ़ के दूसरे प्रयाग मोक्षधाम सांकरदाहरा

छत्तीसगढ़ हमेशा से आध्यात्म का धरा रहा है ,जहाँ ऋषि मुनियों और तपस्वियों का रमणीय स्थल रहा है। वो चाहे त्रेतायुग के रामायण काल में दंडकारण्य का राम वनगमण क्षेत्र…
Read More

छ.ग.के प्रमुख तीर्थ अउ पर्यटन केंद्र : रतनपुर-कोटा-बेलगहना

बिलासपुर ले 25 कि.मी. दूरी मं कोरबा-अंबिकापुर मुख्य मार्ग म  “माता महामाया के नगरी रतनपुर” स्थित हवय। रतनपुर ला चारों युग म अलग-अलग नाम से पुकारत रहिन-सतयुग म हीरापुर, त्रेता…
Read More
Menu