संस्कारधानी राजनांदगांव की सड़कों में बिखरा लोकरंग - मितान महोत्सव 2020 में हुआ राज्यगीत अरपा पैरी के धार का समूह गान







मितान महोत्सव 2020 में हुआ राज्यगीत अरपा पैरी के धार का समूह गान


छत्तीसगढ़ के इतिहास में कलाकारों ने पहली बार किया रोड शो


मितान छत्तीसगढ़ी लोक कलाकार कल्याण संघ राजनांदगांव के तत्वाधान में विगत 01 मार्च को  मितान लोक महोत्सव 2020 का ऐतिहासिक एवं यादगार आयोजन किया गया। दोपहर में यहां रोड शो के माध्यम से 1000 से ज्यादा कलाकारों ने अपनी परंपरागत वेशभूषा में राजनाँदगांव की सड़कों पर समूची लोक संस्कृति को उतार दिया, वहीं दोपहर बाद से लेकर देर रात तक स्थानीय पद्मश्री गोविंदराम निर्मलकर ऑडिटोरियम में रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुति देकर छत्तीसगढ़ की समृद्धशाली लोक संगीत एवं लोककला को मंच पर जीवंत कर दिया। 50 से ज्यादा शीर्षस्थ लोक कलाकारों का सम्मान कर मितान में नगर में एक नई परंपरा की शुरूआत की।


खचाखच रे ऑडिटोरियम में मितान लोक महोत्सव 2020 के मुख्य अतिथि डोंगरगांव के विधायक दलेश्वर साहू थे। अध्यक्षता महापौर श्रीमती हेमा देशमुख ने की। विशेष अतिथि गुंडरदेही के विधायक कुंवर सिंह निषाद और राजगामी संपदा न्यास राजनांदगांव के अध्यक्ष विवेक वासनिक और शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा थे। अतिथियों ने मां सरस्वती की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं पूजा.अर्चना कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। छत्तीसगढ़ की सुप्रसिद्ध गायिका पद्मश्री ममता चंद्राकर के नेतृत्व में लोक गायिका छाया चंद्राकर, सुश्री मोना सेन, श्रीमती रजनी रजक, श्रीमती पूनम विराट, स्वर्णा दिवाकर, रिंकी देवांगन, लता खापर्डे,सुप्रसिद्ध गायक कुलेश्वर ताम्रकार, दुकालू यादव, सुनील तिवारी समेत तमाम आमंत्रित लोक कलाकारों ने राज्य गीत अरपा पैरी के धार का सामूहिक संगीतमय प्रस्तुति देकर आयोजन को नई गरिमा प्रदान की। इस गीत की प्रस्तुति के दौरान ऑडिटोरियम में बैठे दर्शकों ने ना केवल इसके स्वर में स्वर मिलाया बल्कि अपने स्थान पर खड़े होकर राज्य गीत का सम्मान भी किया। सांस्कृतिक  प्रस्तुतियों के क्रम में पद्मश्री ममता चंद्राकर ने तोर मन कइसे लागे राजा...छाया चंद्राकर ने तोर पिरित के मारे...मोना सेन ने मोला निक लागे राजा और 
             मया होगे रे संगी... सुनील तिवारी ने फाग गीत...रजनी रजक ने तोर मन कइसे लागे राजा...स्वर्णा दिवाकर ने मुख मुरली बजाए...दुकालू यादव ने जस गीत...रिंकी देवांगन और दुष्यंत हरमुख ने ददरिया और रिखी क्षत्रिय ने कोकई कांटा टूरी...और कुलेश्वर ताम्रकार ने पुराने लोकप्रिय छत्तीसगढ़ी गीत प्रस्तुत कर दर्शकों की तालियां बटोरी। इन गीतों पर कारी बदरिया मोखा गुरुर, स्वर धारा राजनांदगांव, लोक सांस्कृतिक मंच धरोहर राजनांदगांव, धरती के सिंगार भोथिपार राजनांदगांवद्ध के कलाकारों ने भाव नृत्य प्रस्तुत किया। छत्तीसगढ़ी फिल्म स्टार करण खान ने अपनी हिट फिल्म मंदराजी और बेनाम बादशाह के डायलॉग सुनाएं। सुपरहिट फिल्म मोर छैंया भूइयां के खलनायक मनमोहन सिंह ठाकुर ने भी अपनी फिल्म के डायलॉग सुनाकर वाहवाही बटोरी। हास्य कलाकार पप्पू चंद्राकर और घेवर यादव ने लाफ्टर शो के माध्यम से दर्शकों को देर तक हंसाया।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति के क्रम में लोक सांस्कृतिक मंच धरोहर राजनांदगांव, धरती के सिंगार भोथिपार, मोर मयारू संगी टेड़ेसरा, झंकार राजनांदगांव, लोक तिहार छुरिया, संगी के मया गुंडरदेही, जंवारा पेंड्री, मयारू मैना चिखली, रजनीगंधा, छत्तीसगढ़ महतारी और कारी बदरिया के कलाकारों ने मनभावन कार्यक्रम की प्रस्तुति देकर दर्शकों की तालियां बटोरी।


कार्यक्रम का समापन स्वर्गीय लक्ष्मण मस्तुरिया के अमर गीत मोर संग चलव रे... के साथ हुआ, जिसे मुख्य स्वर महादेव हिरवानी ने दिया। सभी अतिथियों और आमंत्रित कलाकारों ने इस प्रतिष्ठापूर्ण आयोजन की भूरि भूरि प्रशंसा की। आभार प्रदर्शन वरिष्ठ गीतकार हर्ष कुमार बिंदु ने किया। छत्तीसगढ़ की युगांतर कारी प्रस्तुति चंदैनी गोंदा के प्रथम उद्घोषक प्रोफेसर सुरेश देशमुख, राजनांदगांव के वयोवृद्ध संगीतकार बसंत सोनी, प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक प्रेम चंद्राकर, लोकरंग अर्जुंदा के संचालक दीपक चंद्राकर, चंदैनी गोंदा की वरिष्ठ कलाकार श्रीमती शैलजा ठाकुर, रंग झरोखा भिलाई के संचालक दुष्यंत हरमुख, रिखी क्षत्रिय ने कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति देकर आयोजन को और गरिमामय बनाया। कार्यक्रम को सफल बनाने में मितान छत्तीसगढ़ी लोक कलाकार कल्याण संघ राजनांदगांव के अध्यक्ष राजेश मारू, उपाध्यक्ष महादेव हिरवानी, सचिव विष्णु कश्यप, संयुक्त सचिव वीरेन्द्र बहादुर सिंह, कोषाध्यक्ष महेश्वर दास साहू, वरिष्ठ सदस्य एवं गीतकार हर्ष कुमार बिंदु एवं साहित्यकार मुन्ना बाबू समेत आयोजन समिति के समस्त सदस्यों ने महत्वपूर्ण योगदान दिए।                                                                                      
रोड शो कर कलाकारों ने रचा इतिहास




मितान लोक महोत्सव की शुरूआत बालाजी मंदिर प्रांगण राजनांदगांव से व्य रोड शो के साथ हुई। रोड शो में जहां प्रथम पंक्ति में मड़ई के साथ राउत नाच दल, रीलो नाच दल, पंथी नाच दल, डंडा नाच दल अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए चल रहे थे,वहीं पुतला नृत्य लोगों के कौतूहल और आकर्षण का प्रमुख केंद्र बिंदु था। इसके पीछे सभी लोक सांस्कृतिक मंचों कलाकार अपने बैनर के साथ नाचते गाते चल रहे थे। जस गायक दुकालू यादव मानव मंदिर चौक में ट्रक पर सवार हुए और मोर गांव के शीतला दाई मैं हा तोला बंदव ओ... गाकर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। मितान के नेतृत्व में प्रदेश में पहली बार आयोजित लोक कलाकारों के व्य एवं ऐतिहासिक रोड शो का जगह-जगह नागरिकों ने पुष्प वर्षा और जलपान कराकर आत्मीय स्वागत किया जिससे कलाकार अभिभूत थे। 


वीरेन्द्र बहादुर सिंह

राजनांदगांव

contact- 9407760700

टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां