आरू साहू ने दी है स्वर : श्रीमती विभा श्री साहू लिखित गीत न्यूयार्क में रिलीज

आरू साहू 

                                                           

आरू साहू ने दी है स्वर

छत्तीसगढ़ अंचल का नाम रोशन करने वाले भारत की संस्था- नाचा, अमेरिका में अपना परचन लहरा रहा है। छत्तीसगढ़ अंचल से अनेक प्रवासी अमेरिका के न्यूर्याक में रहकर छत्तीसगढ़ की माटी की खुशूब को भूल नहीं पाए हैं और वर्ष र तरह तरह के आयोजन कर अंचल की गरिमा को बनो रखने में कोई कमीं नही करते। इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ मूल की श्रीमती विभा श्री साहू ने अपनी मातृभूमि छत्तीसगढ़ को समर्पित करते हुए एक गीत लिखी है-

छईया भुइयां में जाके मोर मन सुरता थे..

धान कटोरा सब ऐला कही के बुलाथे !!

ए मोर छत्तीसगढ़ हा छईया भूईया ए..

ए लिपाये गोबर मां चकाचक कुरिया ए !!

इस गीत को धमतरी निवासी तेरह वर्षीय स्वर कोकिला के नाम से मशहूर आरू साहू ने दिया है। संगीत की दुनिया में आरू एक ऐसा नाम है जिसकी दी हुई सुरीली एवं जादुई आवाज को छत्तीसगढ़ सहित देश के लोग सुनने बेताब रहते हैं। अब उनके द्वारा छत्तीसगढ़ी में गाई हुई सुरीली एवं मनमोहक आवाज सात समुंदर पार अमेरिका में गूंजने लगी है। 14 सितंबर को यूट्यूब चैनल पर यह गीत रिलिज हुई। आरू साहू के इस उपलब्धि पर रायपुर संभाग युवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष प्यारे लाल साहू ने बधाई एवं शुकामनाएं दी है उन्होंने बधाई देते हुए कहा है कि आरू साहू के इस उपलब्धि से पूरे साहू समाज सहित छत्तीसगढ़ गौरवान्वित हुआ है उन्होंने आरू की उज्जवल एवं सुखद विष्य की कामना भी की है।


श्रीमती विभा श्री साहू 


छईया भुइयां में जाके मोर मन सुरता थे..

धान कटोरा सब ऐला कही के बुलाथे !!

ए मोर छत्तीसगढ़ हा छईया भूईया ए..

ए लिपाये गोबर मां चकाचक कुरिया ए !!

इसके साथ ही अंचल के वरिष्ठ साहित्यकार डा. दीनदयाल साहू के अलावा लोक कला दर्पण के संपादक गोविंद साव के अलावा लेखक और गायिका आरू को बधाई एवं शुकामनाएं देने वालों में संभागाध्यक्ष प्यारे लाल साहू के साथ-साथ, चंद्र प्रकाश साहू,युगल साहू, रूप सिंह साहू, मनीष साहू, ,किशोर साहू, ललित साहू ,प्रकाशमणी साहू, देवेंद्र साहू ,नंद कुमार साहू, सुरेश साहू, जितेंद्र साहू, पोषणसाहू , महेंद्र साहू, वीरेंद्र साहू ,मनहरन साहू,सुनील साहू, भोला साहू, रेखराज साहू, रविशंकर साहू,तुलेश्वर, डा.दिनेश ,डा. भास्कर साहू, तारेश साहू योगेश ,योगेश्वर साहू , प्रदीप साहू, गजानन साहू ,कुलदीप साहू, अनुराग साहू, महेश साहू, बभुषण साहू ,गोपी साहू ,प्रफुल्ल ,नागेश्वर साहू ,हेमलाल साहू , विनय साहू ,रामेश्वर साहू, युवराज साहू ,डेरहू साहू, दीपक साहू, केशव साहू ,सुखुराम साहू, प्रकाश साहू, डॉ पुनीत साहू, डॉ गिरीश साहू, खोमेंद्र साहू, अनिल साहू, हरिश साहू, डोमन साहू, वानेश साहू, गुलशन साहू ,विजय साहू, भिषेक साहू, शिवा साहू, किशन साहू, टोमन साहू, पप्पू साहू ,लव कुश साहू, कमलेश साहू, टिकेंद साहू,हिमांशु, सोनू कुमार साहू, द्वारिका साहू ,रोशन साहू, भीष्म साहू ,शिशुपाल ,डॉ द्वारिका साहू,लेखराम,गंगा, धनेंद साहू, लक्की साहू, पवन साहू , डा. आर के साहू, दिलीप साहू दुष्यंत साहू,डॉ. तोषण साहू डा.मूलचंद,गिरीश,राजेश साहू, रामेश्वर साहू, दुष्यंत, राजू साहू पूनम साहू सहित युवा प्रकोष्ठ रायपुर संभाग के अन्य पदाधिकारीगण एवं सदस्यगण शामिल है।



 संपादक 

गोविन्द साहू (साव)

लोक कला दर्पण

contact-9981098720

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां